स्कूटी पर बेटी को बैठा देख गुस्से से लाल हुए बाप-बेटे, बॉयफ्रेंड को कुल्हाड़ी से काट डाला!

पिछले रविवार आमला थाना इलाके के ग्राम लाखापुर में हुए युवक के हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा किया है. युवक की हत्या गांव के ही एक बाप-बेटे ने की थी. कुल्हाड़ी से मारकर मौत के घाट उतारने के बाद लाश बीड़ नाले में फेंक दी थी!

स्कूटी पर बेटी को बैठा देख गुस्से से लाल हुए बाप-बेटे, बॉयफ्रेंड को कुल्हाड़ी से काट डाला!

इरशाद हिंदुस्तानी/बैतूल: पिछले रविवार आमला थाना इलाके के ग्राम लाखापुर में हुए युवक के हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा किया है. युवक की हत्या गांव के ही एक बाप-बेटे ने की थी. कुल्हाड़ी से मारकर मौत के घाट उतारने के बाद लाश बीड़ नाले में फेंक दी थी. हत्या की वजह आरोपी की बेटी से मृतक के प्रेम संबंध बताए जा रहे हैं. आरोपियों ने घटना वाले दिन बेटी को मृतक की स्कूटी पर बैठे देख लिया था. इसी लड़की बाप इतना गुस्साया कि उसने युवक की हत्या कर दी. इस घिनौने काम में उसका साथ नाबालिग बेटे ने भी दिया था. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.

आमला टीआई सुनील लाटा के मुताबिक 18 जुलाई की सुबह 100 डायल पर सूचना मिली थी कि ग्राम लाखापुर मे बीड़ नाला के पास एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा हुआ है. मृतक की पहचान स्टैंड आमला निवासी सूरज पिता इलु उर्फ अशोक काछेवार के रूप में हुई थी.

ऐसे हुआ खुलासा

ग्रामीणों से पूछताछ में यह पता चला कि 17 जुलाई की रात लाखापुर में लड़का अपने एक दोस्त के साथ गर्लफ्रेंड से मिलने आया था. वह वापस आमला जा रहा था, तभी लड़की के पिता किशोरी उईके पिता इमरत उईके ने दोनों को साथ में देख लिया था. इसके बाद बाप-बेटे ने पीछा करते हुए स्कूटी पर लड़के और उसके दोस्त को टक्कर मारकर गिरा दिया था. पूछताछ के दौरान बताया कि मृतक उसकी लड़की से मिलने स्कूटी से लाखापुर आया था. उससे मिलने लड़की गांव के पास मंदिर तरफ गयी थी. इधर घर में जब लड़की न मिली तो बाप-बेटे ने उसे खोजना शुरू कर दिया. तलाश कर ही रहे थे तभी बाप-बेटे ने लड़की को मंदिर के पास लड़के और उसके दोस्त के साथ स्कूटी पर बैठा पाया. इतना देख दोनों लड़के भागने लगे. आरोपी और उसके बेटे ने दोनों का पीछा किया. स्कूटी को टक्कर मार दी जिससे सूरज ढलान की तरफ गिर गया. जबकि उसका दोस्त भागने में कामयाब हो गया. सूरज को पिता और बेटे कुल्हाड़ी वार किया और डंडे से पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया.!