जब देर रात कजिन के साथ एडल्ट फिल्म देख रहे थे Vikrant, अचानक कमरे में आ गईं मौसी!

विक्रांत मेस्सी ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि किस तरह उन्हें एक बार उनकी मौसी ने कजिन के साथ एडल्ट फिल्म देखने हुए पकड़ लिया था!

जब देर रात कजिन के साथ एडल्ट फिल्म देख रहे थे Vikrant, अचानक कमरे में आ गईं मौसी!

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्टर विक्रांत मेस्सी (Vikrant Massey), हर्षवर्धन राणे (Harshvardhan Rane) और तापसी पन्नू (Taapsee Pannu) इन दिनों अपनी फिल्म 'हसीन दिलरुबा' के चलते सुर्खियों में बने हुए हैं. हाल ही में तीनों कलाकारों ने अपनी जिंदगी के कुछ दिलचस्प किस्से साझा किए हैं. ये सितारे जब एक रेडियो शो पर पहुंचे तो आरजे सिद्धार्थ ने उनसे पूछा गया कि क्या वो कभी कुछ ऐसा देखते हुए पकड़े गए हैं जो उन्हें नहीं देखना चाहिए था? इस पर विक्रांत मेस्सी (Vikrant Massey) ने एक दिलचस्प किस्सा सबके साथ शेयर किया

.मौसी ने एडल्ट फिल्म देखते पकड़ा
विक्रांत (Vikrant Massey) ने बताया कि ये घटना उनके साथ तब हुई थी जब वो अपनी नानी के घर पर थे. उन्होंने बताया, 'मेरा कजिन और मैं देख रहे थे (एडल्ट फिल्म) और तभी मेरी मौसी कमरे में आ गईं. हमने कभी नहीं सोचा था कि वो रात के 3 बजे जग जाएंगी. फिर हमें बहुत शर्मिंदगी हुई. मैं कुछ दिनों से अपनी नानी के घर पर रुका हुआ था.'

विक्रांत (Vikrant Massey) ने बताया कि इस घटना के बाद उन्हें जब भी अपनी मौसी के पास पानी का ग्लास लेने या फिर किसी भी और काम से जाना होता था तो उन्हें बहुत ज्यादा शर्मिंदगी होती थी. उन्होंने बताया कि वह अपनी मौसी की आंखों में देखने से कतराते थे. उन्होंने कहा कि ये बहुत ज्यादा शर्मिंदगी भरा होता था. हालांकि उनकी मौसी ने कभी भी उनकी मां को ये बात नहीं बताई.

कभी किसी को नहीं बताया

विक्रांत (Vikrant Massey) ने कहा, 'उन्होंने कभी भी मेरी मां या किसी और को ये बात नहीं बताई. ये समझने की बात थी कि बच्चे बड़े हो रहे हैं.' वहीं तापसी पन्नू ने बताया कि उनके घर में वही चीज देखी जाती थी जो उनके पिता देखना चाहते थे. इस दौरान जब भी स्क्रीन पर कोई अंतरंग दृष्य आता था तो सभी बहुत अजीब स्थिति में आ जाया करते थे.

हर्षवर्धन ने बताया अपना किस्सा
हर्षवर्धन राणे ने भी इसी तरह अपना किस्सा याद किया और बताया कि वह सस्ते चीप नॉवल पढ़ा करते थे और कुछ बी-ग्रेड फिल्में देखने जाया करते थे जो उन दिनों थिएटर्स में दिखाई जाती थीं. हर्षवर्धन ने बताया कि वो फिल्में भी अजीब हुआ करती थीं क्योंकि जो सीन आप देखना चाहते थे उसके लिए आपको घंटों तक इंतजार करना पड़ता था!