मास्क उतारकर संसद में नारेबाजी, 12 बजे तक के लिए स्थगित हुई लोकसभा!

सदन में हंगामे के बीच ही स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने अपने मंत्रालयों से संबंधित पूरक प्रश्नों के उत्तर दिए.!

मास्क उतारकर संसद में नारेबाजी, 12 बजे तक के लिए स्थगित हुई लोकसभा!

नई दिल्लीः कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी सदस्यों द्वारा पेगासस जासूसी मामला सहित विभिन्न मुद्दों पर हंगामे के कारण शुक्रवार को लोकसभा की कार्यवाही आरंभ होने के करीब 15 मिनट बाद दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.
सदन की कार्यवाही आरंभ होने पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने ओलंपिक खेलों के लिए भारतीय खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दीं और प्रश्नकाल शुरू कराया.

हंगामे के बीच दिए प्रश्नों के उत्तर
इसके बाद कुछ विपक्षी सदस्य नारेबाजी करते हुए अध्यक्ष के आसन के निकट पहुंच गए. कुछ सदस्यों के हाथों में तख्तियां थी जिस पर पेगासस मामले की उच्चतम न्यायालय की निगरानी में न्यायिक जांच की मांग का विषय लिखा हुआ था .
सदन में हंगामे के बीच ही स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने अपने मंत्रालयों से संबंधित पूरक प्रश्नों के उत्तर दिए.

बिरला ने कोरोना संक्रमण का भी दिया हवाला
बिरला ने नारेबाजी कर रहे विपक्षी सदस्यों से अपने स्थान पर जाने और कोविड दिशानिर्देशों का पालन करने की अपील की.
उन्होंने कहा, ‘‘कोविड संक्रमण और टीकाकरण की स्थिति पर चर्चा हो रही है. आप लोगों ने मास्क नहीं लगा रखे हैं. कोरोना संक्रमण खत्म नहीं हुआ है. आप जन प्रतिनिधि हैं. अगर आप खुद संक्रमण फैलाएंगे तो फिर क्या संदेश जाएगा.’’

'मास्क लगाइए, सीट पर जाइए''
लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘कोविड दिशानिर्देशों का पालन करिए. आप मास्क निकालकर नारेबाजी कर रहे हैं और तख्तियां दिखा रहे हैं, यह उचित नहीं है. आप लोग अपनी सीट पर जाइए, आपको चर्चा करने का मौका दूंगा.’’
हंगामा नहीं थमने पर उन्होंने करीब 11.15 बजे सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी.

शांतनु सेन का निलंबन
तृणमूल कांग्रेस सदस्य शांतनु सेन को एक दिन पहले के अशोभनीय आचरण के लिए राज्यसभा के मौजूदा सत्र में शेष समय के लिए निलंबित किया गया. उधर, दूसरी तरफ संसद के मानूसन सत्र में गुरुवार को पेगासस जासूसी केस, ऑक्‍सीजन की कमी से मौत और कृषि कानूनों पर विपक्ष लगातार सरकार पर हमलावर रहा और इसके कारण संसद की कार्यवाही पिछले तीन दिनों से लगातार बाधित हो रही है!