मां को ससुर के साथ आपत्तिजनक हालत में देख आगबबूला हुई बहू, कर दी हत्या, फिर पिता-बेटी ने किया ये काम!

छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में एक महिला ने अपनी मां से अवैध संबंधों के चलते अपने ससुर की हत्या कर दी!

मां को ससुर के साथ आपत्तिजनक हालत में देख आगबबूला हुई बहू, कर दी हत्या, फिर पिता-बेटी ने किया ये काम!

दुर्गेश सिंह बिसेन/पेंड्रा:  छत्तीसगढ़ के गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में एक महिला ने अपनी मां से अवैध संबंधों के चलते अपने ससुर की हत्या कर दी. इसके बाद परिजनों के साथ मिलकर गले में पत्थर डाल शव को नदी में फेंक दिया. पुलिस ने पिता-बेटी सहित हत्या में साथ देने और जानकारी छिपाने के आरोप में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है. मामला गौरेला थाना क्षेत्र का है.

दरअसल मामला गौरेला थाना क्षेत्र का है. जहां पर दो दिन पहले खोडरी के मानपुर में अरपा नदी में तैरती लाश देख गांव के ही एक शख्स ने देखा था. जिसके बाद घटना की जानकारी गौरेला पुलिस को दी. घटना की जानकारी मिलते ही गौरेला पुलिस की टीम मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरु की तो शव की शिनाख्त चैन सिंह भैना (45) साल बनझोरका गांव थाना गौरेला के रूप में हुई. 

पोस्टमार्टम में हुआ खुलासा
पुलिस ने पंचनामा कार्यवाही के बाद शव का पोस्टमार्टम कराया गया. जिसमें डॉक्टर द्वारा धारदार हथियार से गले में वार करने से गले की हड्डी टूटने व कोमा में चले जाने से मृत्यु होना बताया गया. पुलिस ने मामले में हत्या का अपराध दर्ज करते हुए इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने में जुट गई

पुलिस जांच के दौरान कुछ बाते सामने आई जिसमे पुलिस को पता चला कि मृतक का उसकी समधन के साथ अवैध संबंध रहा है. जिसकी वजह से कई बार वाद-विवाद भी हो चुका है. सुराग मिलने के बाद पुलिस ने मामले में मृतक की बहू रामप्यारी भैना को हिरासत में लिया और पूछताछ की तो पहले रामप्यारी भैना पुलिस को गुमराह करती रही पर पुलिस ने जब सख्ती से पूछा तो उसने हत्या की वारदात को अंजाम देना स्वीकार कर लिया.

मां को आपत्तिजनक स्थिति में देखा
दरअसल घटना के दिन चैन सिंह अपने बेटी के ससुराल आया हुआ था और कुछ सामान लाने को कह कर बाहर गया. जब काफी देर तक नहीं लौटा. फिर रामप्यारी को घर में उसकी मां भी नजर नहीं आई तो दोनों को ढूंढने निकली तो घर से कुछ दूर पर चैन सिंह और उसकी मां को आपत्तिजनक हालत में देख कर अपने गुस्से पर काबू नहीं रख सकी. उसके बाद घर मे रखे टंगिया से वारकर अपने ससुर को मौत के घाट उतार दिया. जिससे चैन सिंह की मौके पर ही मौत हो गयी. बताया जा रहा है कि बहू रामप्यारी अपनी मां को ससुर के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पहले भी देख चुकी है. जिसका उसने विरोध किया था. 

ये लोग शामिल हुए घटना में
घटना के बाद बाद रामप्यारी भैना, अपने पिता कुंवर सिंह भैना और बहन अमिता बाई,और मां बिरसिया बाई के साथ मिलकर मृतक चैनसिंह के लाश में पत्थर को प्लास्टिक के बोरी से बांधकर घर से आधा किलोमीटर दूर लाकर अरपा नदी में जाकर फेंक दिया. साथ ही घटना के बाद मृतक की साइकिल जिससे मृतक चैन सिंह को बनझोरखा गांव पहुंचा दिया!