इंस्टाग्राम वीडियो के बाद सुर्खियों में आईं यूपी पुलिस की कॉन्सटेबल प्रियंका मिश्रा ने दिया इस्तीफा

इंस्टाग्राम वीडियो के बाद सुर्खियों में आईं यूपी पुलिस की कॉन्सटेबल प्रियंका मिश्रा ने दिया इस्तीफा

इंस्टाग्राम पर वीडियो अपलोड करके रातों रात सुर्खियों में आईं आगरा के एम एम गेट थाने में तैनात रहीं महिला कॉन्सटेबल प्रियंका मिश्रा सोशल मीडिया पर लोगों के टिप्पणियों से परेशान हैं. अब परेशान होकर उन्होंने अपना इस्तीफा आगरा एसएसपी मुनिराज को सौंप दिया है. प्रियंका मिश्रा ने एक वीडियो बनाया था जिसमें वो लिपसिंग करते दिखी थीं. वीडियो में उन्हें "हरियाणा पंजाब तो बेकार ही बदनाम है. आओ कभी उत्तर प्रदेश में रंगबाजी क्या होती है. हम तुम्हें बताते हैं, न गुंडई पर गाना बनाते हैं और ना गाड़ी पर जाट गुर्जर लिखाते हैं. हमारे यहां तो 5 साल के लौंडे कट्टा चलाते हैं" का लिपसिंग करते देखा जा सकता है.


इसी म्यूजिक के साथ हाथ में हथियार लिए प्रियंका मिश्रा का यह वीडियो सोशल मीडिया में छा गया. एक तरफ उन्हें सोशल मीडिया में उनके फॉलोअर्स लगातार बढ़ने लगे तो वहीं दूसरी तरफ उनकी पेशेवर और व्यक्तिगत जिंदगी में तनाव बढ़ गया. मामला संज्ञान में आते ही आगरा एसएसपी ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए थाने से कॉन्सटेबल को लाइन हाजिर कर दिया।। 
वहीं दूसरी तरफ लगातार लोगों के आ रहे कमेंट से परेशान होकर कॉन्सटेबल प्रियंका मिश्रा ने एसएसपी आगरा मुनिराज को इस्तीफा सौंप दिया. फिलहाल बताया जा रहा है कि वो इस समय मानसिक तनाव के दौर से गुजर रही हैं. जानकारी मिली है कि आगरा के एसएसपी मुनिराज ने प्रियंका के परिवार वालों से बात करने के बाद ही किसी डिसीजन को लेने की बात कही है.


मीडिया से बात करते हुए प्रियंका ने कहा कि मेरी पोस्टिंग आगरा के एम एम गेट थाने में थी, लेकिन जो वीडियो वायरल हुआ उसकी वजह से मुझे लाइन हाजिर कर दिया गया था. मैं कॉन्स्टेबल के पद पर थी. वीडियो सभी ने देखा हुआ है, उसमें मैं पिस्टल लिए हुए थी और मुझे कोई ऐसा आइडिया नहीं था कि मेरे सामने ऐसा वीडियो आएगा. मुझे नॉलेज भी नहीं थी इस तरह से वीडियो सोशल मीडिया पर आएगा. 


प्रियंका का कहना है कि 'मुझे एक्टिंग का शौक है और वीडियो बनाने का शौक है. ऐसा नहीं है कि मैं यूनिफार्म में ही वीडियो बनाती हूं. मेरे काफी वीडियो प्राइवेट कॉस्ट्यूम में भी हैं. मुझे वीडियो बनाने का शौक था तो मुझे नहीं पता था कि वीडियो इस तरह से मीडिया में आएगा कि मैंने पुलिस विभाग को बदनाम कर दिया है. मैंने ऐसा कुछ भी नहीं सोचा था. वीडियो में ऐसा कुछ भी नहीं था. हर चीज के दो पहलू होते हैं. किसी ने निगेटिव लिया तो किसी ने पॉजिटिव लिया था.'


उनका कहना है कि 'वह ऐसे कमेंट कर रहे हैं और वह सही है जो दूसरों को नीचा दिखाना चाहते हैं. मैंने यूनिफॉर्म में वीडियो बनाया था और पिस्टल भी मेरे हाथ में थी. वह एक डायलॉग था बैकग्राउंड में और उस पर मैंने लिपसिंग की है. समस्या तब आने लगी कि मुझे जैसे ही पता चला कि वीडियो ज्यादा वायरल हो गया तो सभी ने बोला कि क्या कार्रवाई हो रही है. इसलिए मेरे विभाग ने मुझे लाइन हाजिर कर दिया. उनकी प्रॉब्लम नहीं है. लोगों ने बोला तो उनको करना ही था.


उन्होंने कहा कि 'विभाग से मुझे कोई समस्या नहीं है. आगे मुझे मेरा विभाग सपोर्ट करेगा. मैं लाइन हाजिर हो गई और सोशल मीडिया पर मुझे ट्रोल किया जा रहा है. वह चीजें मुझे ठीक नहीं लग रही है. अगर सबको लगता है कि मैंने बहुत अभद्रता की है और मुझे लगता है कि मैंने कोई ऐसी चीजें नहीं की है और मैंने सोशल मीडिया पर माफी भी मांगी है.'


प्रियंका ने आगे कहा, "अगर लोगों को लगता है कि मुझे इस विभाग में नहीं होना चाहिए, मैंने गलत कर दिया तो मैं जॉब छोड़ने के लिए तैयार हूं. एसएसपी सर से मुलाकात नहीं हुई है. दो-तीन दिन पहले मैंने इस्तीफा दिया था. एसएसपी सर ने परिवार के लोगों से बात करने के बाद इस्तीफा स्वीकार करने की बात कही थी. मेरे परिवार के लोग भी समझा रहे हैं. मैं मानसिक तरीके से काफी परेशान हो गई थी इसलिए मुझे समझ में नहीं आया और मुझे जो सही लगा वह मैंने कर दिया