Sidhu Moose Wala murder: जाने-माने गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में 2 शूटर्स गिरफ्तार.

जाने-माने पंजाबी गायक और कांग्रेस नेता सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में दो मुख्य शूटरों सहित तीन व्यक्ति गिरफ्तार किए गए हैं.उनके पासे से 8 ग्रेनेड, 3 पिस्तौल और लगभग 50 गोलियों सहित बड़ी संख्या में हथियार मिले हैं.

Sidhu Moose Wala murder: जाने-माने गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में 2 शूटर्स गिरफ्तार.

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता और पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में सोमवार को बड़ी गिरफ्तारी हुई है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने शूटरों के मॉड्यूल हेड समेत दो मुख्य शूटर्स को गिरफ्तार कर लिया है। उनके पास से बड़ी संख्या में हथियार और विस्फोटक बरामद हुए हैं। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने यह जानकारी दी है। बताया जा रहा है कि इन दो गिरफ्तारियों के अलावा पुलिस ने एक अन्य शूटर को भी गिरफ्तार किया है।

जाने-माने पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को पंजाब के मानसा जिले में हत्या कर दी गई थी। हमलावरों ने उन्हें गोलियों से छलनी कर दिया था। रिपोर्ट्स की मानें तो हमलावर लॉरेंस बिश्नोई गैंग से जुड़े थे।

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का मुख्य आरोपी गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई पंजाब पुलिस की गिरफ्त में है। पंजाब पुलिस 14 जून को लॉरेंस को गिरफ्तार कर एक दिन की ट्रांजिट रिमांड पर पंजाब ले गई थी। पंजाब पुलिस ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट में दलील दी थी कि इस मामले की जांच के दौरान पता चला है कि लॉरेंस बिश्नोई सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का मुख्य साजिशकर्ता है और उससे हिरासत में पूछताछ जरूरी है।

पुलिस ने सोमवार को प्रेसवार्ता में बताया कि आज से पहले भी इस मामले में गिरफ्तारी हुई है। स्पेशल सेल के लिए यह काफी चुनौतीपूर्ण काम था। घटना पंजाब के मनसा जिले में घटी थी, इस वजह से चुनौती अधिक थी। हमारी टीम का मकसद था कि जिन लोगों ने इस वारदात को अंजाम दिया है, उन्हें जल्द पकड़ें। हमारी टीम लगातार इस पर काम कर रही थी। घटना को अंजाम देने वालों से जुड़ी हर जानकारी जुटाई जा रही है।

सिद्धू मूसेवाला की हत्याकांड के प्रमुख माड्यूल को गिरफ्तार किया गया है जिसका नाम प्रिय व्रत फौजी है.प्रियवत फौजी शूटर्स के पूरे मॉड्यूल का हेड है. मर्डर के समय फोजी गोल्डी बराड़ के सीधे संपर्क में था. फौजी इससे पहले भी हत्या के 2 मामलों में शामिल रहा है.

कशिश उर्फ कुलदीप झज्जर निवासी कशिश हत्या में शामिल था। केशव कुमार ने वारदात के बाद सभी शूटरों को भागने में मदद की।

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने कहा कि छह शूटरों की पहचान कर ली गई है। गोल्डी बरार के संपर्क में रहने वाले निशानेबाजों के दो मॉड्यूल इस घटना में शामिल थे।