ओडिशा-पश्चिम बंगाल में Cyclone Yaas ने मचाई तबाही, छोड़ गया बर्बादी के निशान

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) ने 26 मई को 130-140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं पश्चिम बंगाल और ओडिशा (West Bengal and Odisha) के तटिय इलाकों में अपना कहर बरसाया. 3 घंटे के लैंडफॉल के दौरान यास तूफान अपने चरम पर था और इस दौरान सबसे ज्यादा तबाही मचाई. तूफान के रौद्र रूप में गाड़ी, घर, मकान, दुकान, पेड़ और बिजली के खंभे तबाह हो गए. जो तस्वीरें कैमरे में कैद हुई, उससे यास तूफान से होने वाली तबाही साफ नजर आती है.

ओडिशा-पश्चिम बंगाल में Cyclone Yaas ने मचाई तबाही, छोड़ गया बर्बादी के निशान

कोरोना कहर के बीच अस्पताल में भरा पानी

Water in hospital

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) का सर्वाधिक असर पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना और दक्षिण 24 परगना के अलावा पूर्वी मेदिनीपुर जिले में हुआ है. कोरोना कहर के बीच दक्षिण 24 परगना जिले के काकद्वीप में एक अस्पताल में पानी भर गया, जिस कारण मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. (फोटो सोर्स: एएनआई)

सड़कों पर जलमग्न हुईं गाड़ियां

submerged vehicles

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) की वजह से पश्चिम बंगाल के कई रिहायशी इलाकों में पानी घुस गया है और घरों के अंदर पानी भर गया. इसके अलावा सड़कों पर खड़ी गाड़ियां भी जलमग्न हो गईं. (फोटो सोर्स: एएनआई)

एनडीआरएफ ने बचाई जान

NDRF save life

यास चक्रवात (Cyclone Yaas) ओडिशा के भद्रक जिले में तट से टकराया और यहां बालासोर में भारी तबाही का मंजर देखने को मिला. बालासोर में जलस्तर बढ़ने के बाद गांव जलमग्न होने लगे और फिर एनडीआरएफ के जवानों ने कड़ी मेहनत के बाद उन्हें सुरक्षित जगह पहुंचाया. इस दौरान लोग घरों की छत पर खड़े होकर अपनी जान बचाई. (फोटो सोर्स: एएनआई)

तूफान में कई घर हुए तबाह

houses destroyed in the storm

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) ने पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में भारी तबाही मचाई. जिले डायमंड हार्बर और सागर द्वीप में तूफान की वजह से कई घर गिर गए. (फोटो सोर्स: एएनआई)

बंगाल में 3 लाख घर क्षतिग्रस्त

3 lakh houses damaged in Bengal

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) की वजह से पश्चिम बंगाल में भारी तबाही का मंजर देखने को मिला. राज्य में तीन लाख से अधिक मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं. (फोटो सोर्स- पीटीआई)

 

हाई टाइड के बाद गांवों में भरा पानी

Water filled in villages after high tide

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) आने के बाद समुद्र में उठे हाई टाइट की वजह से पश्चिम बंगाल के ईस्ट मिदनापुर जिले के मंदारमनी गांव में पानी भर गया, जिसके बाद एक शख्स की मौत हो गई.

सेना ने लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला

Army evacuates people safely

पश्चिम बंगाल के ईस्ट मिदनापुर जिले के मंदारमनी गांव में पानी भरने के बाद कई लोग घरों में फंस गए थे. इसके बाद सेना के जवानों ने लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला.

तटीय इलाकों में भरा समुद्र का पानी

Sea water filled in coastal areas

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) के प्रभाव से समुद्र में ऊंची-ऊंची लहरे उठ रही थीं और इस कारण तटीय इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हो गए थे. प्रशासन ने स्‍कूलों, कॉलेजों और मदरसों में चक्रवाती तूफान से प्रभावित लोगों के लिए शिविर बनाए हैं, जहां उन्हें रखा गया है. (फोटो सोर्स: एएनआई)

शादियों पर भी पड़ा तूफान का असर

Weddings also affected by storm

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) के बाद भारी बारिश की वजह से पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के कई इलाकों में पानी भर गया. इस दौरान एक नवविवाहित जोड़ा पानी के बीच सड़क पार करते नजर आया. (फोटो सोर्स: एएनआई)

बाढ़ में फंसे कई जानवर

Many animals trapped in floods

चक्रवाती तूफान यास (Cyclone Yaas) की वजह से पश्चिम बंगाल के दीघा में 30 फुट ऊंची लहरें उठीं और समुद्र तट पर लगे गार्डरेल पार शहर में दो किलोमीटर अंदर तक पानी पहुंच गया. तटवर्ती इलाकों को खाली करा लिया गया था और लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचा दिया गया था, लेकिन इस दौरान कई जानवरों बाढ़ के बीच फंस गए थे. (फोटो सोर्स: रॉयटर्स)