मध्यप्रदेश - बाढ़ मे फसे लोग मगर नही पहुंची रेस्क्यू टीम फिर

मध्यप्रदेश - बाढ़ मे फसे लोग मगर नही पहुंची रेस्क्यू टीम फिर

भिंड का एक गांव जहां नही पोहची रेस्क्यू टीम ।। जी हां हम बात करे रहे हैं श्यामपुरा की जहा मचती रही तबाही और अकेले लड़ते रहे गांव वाले ।। सिंध नदी में आई बाढ़ में डूब रहे हर गांव में प्रशासन और वरिष्ट अधिकारी तथा रेसयू टीम मौजूद रही लेकिन श्यामपुरा गांव में अभी तक कोई नहीं पहुंचा हैं ।। यह तक की श्यामपुरा पंचायत के सरपंच सचिव भी श्यामपुरा के लोगो की आपदा से लड़ने में सहायता करने के लिए वहा मौजूद नहीं थे ।। जब H live news को इस बात की खबर लगी तब H live news के पत्रकार संतोष सिंह वहा पहुंचे और गांव वालों से उनका हाल जाना तब गांव वालों ने अपनी आपबीती सुनाई ।। गांव वालों का कहना है की हम लोगो को बाड़ आने की कोई सूचना या चेतावनी नही दी गई थी ।। जब पानी गांव के अंदर आ गया तो गांव से जाने वाला 2 किलोमीटर का कच्चा रास्ता पानी में डूब चुका था ।। पानी लगातार बढ़ता ही जा रहा था और जब तक हम लोग कुछ करते तब तक सब कुछ खत्म हो चुका था ।। किसानों की पूरी साल की कमाई जैसे - गेंहू ,सरसों, मवेशियों के लिए भूसा आदि सब ले गया सिंध नदी का रौद रूप ।। पर यहाँ अभी तक कोई प्रशासनिक अधिकारी नही पोहचा हैं।। आपको बता दे H.live news के जरिए जब लोगों ने सरकार से गुहार लगाई तब भिंड विधायक संजीव सिंह कुशवाहा द्वारा प्रत्येक परिवार को सूखा राशन दिया गया तब जाकर श्यामपुरा वासियों ने राहत भरी सांस ली ।। जब भिंड विधायक से मीडिया ने चर्चा की तो बोले मैं पहले भी आया था लेकिन श्यामपुरा के रास्ते पानी में डूब चुके थे ।। इसलिए में आने के लिए असमर्थ हो गया और जब आज जल स्तर कम हुआ तब गांव के खेतों के रास्ते से होते हुए ट्रैक्टर मैं सूखा राशन लेकर यहां पहुंच पाया ।। विधायक ने पंचायत के सरपंच और सचिव को ठहराया दोषी।। साथ ही लोगों को गांव की पक्की रोड बनाने का भी दिया आश्वासन ।।