हरियाणा में बैन के बाद अब UP में भी 'गोरखधंधा' शब्द को प्रतिबंधित करने की मांग

हरियाणा में बैन के बाद अब UP में भी 'गोरखधंधा' शब्द को प्रतिबंधित करने की मांग

उत्तर प्रदेश के कन्नौज से बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक ने योगी सरकार से मांग की है कि हरियाणा की तरह उत्तर प्रदेश में भी गोरखधंधा शब्द के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए. उन्होंने मुख्यमंत्री को इस संबंध पत्र में लिखा है और कहा है कि इस शब्द से गुरु गोरखनाथ के अनुयायियों की भावनाएं आहत होतीं हैं. ऐसे शब्दों की अनुमति देना अनैतिक है. हरियाणा सरकार गोरखधंधा शब्द के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा चुकी है.

सुब्रत पाठक के मुताबिक गोरखधंधा एक ऐसा शब्द है, जिसका इस्तेमाल गलत प्रथा के लिए किया जाता है. यह शब्द कब गढ़ा गया था, इसकी भी किसी को जानकारी नहीं है. इससे लगता है कि यह शब्द हमारी सनातन संस्कृति और संतों को बदनाम करने की साजिश का हिस्सा था. सांसद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस शब्द पर प्रतिबंध लगाने की मांग करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर को धन्यवाद भी दिया है.

उन्होंने बताया कि किसी भी शब्दकोश में इस शब्द के बारे में नहीं लिखा है, फिर भी आमतौर पर इसका इस्तेमाल होता है. उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद गुरु गोरक्षनाथ, बोलचाल की भाषा में गोरखनाथ, के अनुयायी और इस मठ के महंत हैं. ऐसी स्थिति में उत्तर प्रदेश में भी इस शब्द के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगना चाहिए. बीजेपी सांसद मुख्यमंत्री से व्यक्तिगत रूप से मिलकर इस शब्द पर प्रतिबंध लगवाने संबंधी बात करेंगे.