खाटू श्याम बाबा के प्रेमी रमन अग्रवाल अकेले निकले निशान लेकर खाटू श्याम के लिए

खाटू श्याम बाबा  के प्रेमी रमन अग्रवाल अकेले निकले निशान लेकर खाटू श्याम के लिए

बाबा खाटू श्याम का निशान लेकर तिकुनिया जिला लखीमपुर खीरी पलिया नेपाल बॉर्डर से पैदल बाबा खाटू श्याम का निशान लेकर दिनांक 03.09.2021 से लगातार बाबा के आशीर्वाद और बाबा की लगन  से पैदल निशान लेकर अकेले ही खाटू धाम के लिए निकल पड़े हमारे श्याम प्रेमी रमन अग्रवाल जी उन्हें ना भूख है ना प्यास  है ,है तो बस एक ही बाबा का गुणगान बाबा  की कृपा से पैदल बाबा का गुणगान करते हुए लगातार चल रहे हैं

इसी क्रम में श्याम प्रेमी रमन अग्रवाल जी का रास्ते में जगह-जगह श्याम प्रेमियों के द्वारा फूल मालाओं से उनका स्वागत किया गया उसी क्रम कस्बा मीरगंज  जिला बरेली के श्याम प्रेमियों के द्वारा भी रमन अग्रवाल जी का ढोल नगाड़ों के साथ अगवानी कर लाया गया और कस्बे के अंदर स्वागत किया गया तथा जलपान तथा भोजन का कार्यक्रम भी रखा गया

 मीरगंज के बाद मिलक के श्याम प्रेमियों ने रमन अग्रवाल जी को अगवानी कर स्वागत करते हुए कस्बा मिलक जिला रामपुर में प्रवेश कराया श्याम प्रेमी रमन अग्रवाल जी दिनांक 02.10.2021 को 850 किलोमीटर की लम्बी पैदल यात्रा कर बाबा खाटू श्याम जिला रींगस राजस्थान के मंदिर में वह निशान चढ़ाएंगे जो तिकुनिया जिला लखीमपुर खीरी नेपाल बॉर्डर से पैदल लेकर आए हैं आज दिनांक 27.09.2021 को रमन अग्रवाल जी से संपर्क किया गया तो जानकारी मिली कि वह नीमकाथाना जिला रींगस राजस्थान में प्रवेश कर चुके हैं और रात्रि विश्राम नीमकाथाना स्थान पर ही है दिनांक 02.10.2021 को श्याम प्रेमी रमन अग्रवाल  एकादशी(ग्यारस) के दिन बाबा खाटू श्याम के मंदिर पैदल लाया हुआ निशान चढ़ाएंगे हम ऐसे श्याम प्रेमी को  दंडवत प्रणाम  करते हैं और उनके दीर्घायु एवं कुशलता की बाबा से प्रार्थना करते हैं जिन्होंने अपनी लगन और निष्ठा और बाबा के आशीर्वाद से इतनी लंबी पैदल यात्रा


करके बाबा के निशान चढ़ाएंगे जय श्री श्याम जय श्री श्याम खाटू नरेश की जय लखदातार की जय तीन बाण धारी की जय हारे के सहारे की जय