अब कानपुर में भी Ayodhya City Development Plan की तरह ही तैयार होगी कार्ययोजना

32738.03 करोड़ रुपये की 54 योजनाएं विभागों की ओर से प्रस्तावित हैं। इनको योजनाबद्ध तरीके से धरातल में लाने की तैयारी की जा रही। योजनाओं के लिए एक भी पैसा शासन से नहीं मिलेगा। इनको विभागों को अपने मद से कराना होगा।

अब कानपुर में भी Ayodhya City Development Plan की तरह ही तैयार होगी कार्ययोजना

अयोध्या की तर्ज पर शहर का सिटी डेवलपमेंट प्लान तैयार करने की तैयारी शुरू हो गई है। विभागों में प्रस्तावित विकास कार्यों को शहर के नियोजित विकास कराने के लिए खाका तैयार किया जाएगा। वर्तमान समय में 23245.32 करोड़ से 67 योजनाएं चल रही हैं। 32,738.03 करोड़ रुपये की 54 योजनाएं विभागों की ओर से प्रस्तावित हैं। इनको योजनाबद्ध तरीके से धरातल में लाने की तैयारी की जा रही। योजनाओं के लिए एक भी पैसा शासन से नहीं मिलेगा। इनको विभागों को अपने मद से कराना होगा। इसको लेकर मंडलायुक्त डॉ. राजशेखर की अध्यक्षता में मंगलवार को 14 विभागों के अफसरों के साथ शिविर कार्यालय में बैठक हुई, जिसमें डीएम और केडीए उपाध्यक्ष आलोक तिवारी, नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी समेत अन्य विभागों के अफसर मौजूद रहे।

आरएफपी ई-बिड के लिए आठ सदस्यीय कमेटी गठित :

 प्रस्तावित योजना का रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आरएफपी) के ई बिड के लिए आठ सदस्यीय कमेटी गठित की गई है। योजनाओं का खाका तैयार करने के लिए कंसलटेंट की नियुक्ति के लिए टेंडर आमंत्रित किए जाने हैं। दस जून तक टेंडर खोले जाएंगे। इसमें आने वाली कंपनियों से प्राप्त ई-बिड के मूल्यांकन और लागू कराने के लिए मंडलायुक्त की अध्यक्षता में गठित आठ सदस्यीय कमेटी कार्य करेगी। कंसलटेंट को फाइनल करेगी।

केडीए ने तीन सदस्यीय कमेटी गठित की : सुझाव और आपत्ति के निस्तारण के लिए केडीए ने प्राधिकरण सचिव, वित्त नियंत्रक और मुख्य अभियंता की तीन सदस्यीय कमेटी गठित की है। निस्तारण करके मंडलायुक्त से स्वीकृति लेकर ई टेंडर पोर्टल पर भी अपलोड किया जाएगा।

यह भी बैठक में हुए फैसले

सभी विभागों को अवगत करा दिया गया कि इस पर आने वाले व्यय भार को शासन द्वारा वहन नहीं किया जाएगा बल्कि संबंधित विभाग अपने विभागीय बजट के माध्यम से ही इन कार्यों को कराएगा। चयनित कंसलटेंट की ओर से सभी विजन योजनाओं का विजन डाक्यूमेंट तैयार करते हुए मंडलायुक्त के समक्ष प्रस्तुतीकरण किया जाएगा। उसके बाद योजनाओं का चयनित किए जाने का फैसला लिया जाएगा। गंगा के तट और आसपास का इलाका होगा विकसित : शहर के साथ ही गंगा के तट और आसपास का इलाका भी विकसित होगा। बैराज से सरसैया घाट तक आठ सौ करोड़ रुपये की रिवर फ्रंट डेवलपमेंट विकसित किया जाएगा। इसके अलावा बैराज से शुक्लागंज की तरफ गंगोत्री (माडर्न सिटी योजना) और गंगा से जुड़े इलाकों में न्यू कानपुर सिटी विकसित करने की तैयार की जा रही है। वर्तमान समय में बोट क्लब, गंगा थीम पार्क और जैविक पार्क बनाने की तैयारी चल रही है।

शहर को जाम से मुक्त कराने के लिए एलीवेटेड और रिंग रोड : 

शहर को जाम से मुक्त कराने के लिए एलीवेटेड रोड और 93 किलोमीटर रिंग रोड बनाने का भी योजना प्रस्तावित है। इस योजना के आने से शहर के अंदर और बाहर का जाम खत्म हो जाएगा।

बैराज जाने का एक और रास्ता : गंगा बैराज जाने के लिए एक और रास्ता वीआइपी मार्ग पर सरसैया घाट से बैराज तक गंगा नदी पर चार लेन ओवरब्रिज और एलीवेटेड बनाने की योजना प्रस्तावित है। इससे वीआइपी रोड से जुड़े इलाकों को बैराज जाने के लिए आजाद नगर से नहीं जाना होगा सीधे रास्ता मिल जाएगा।

वर्तमान में निर्माणाधीन महत्वपूर्ण कार्य

विभाग परियोजना लागत (रुपये करोड़ में) मेट्रो - 34 किमी मेट्रो रेल परियोजना -11076.48 एनएचएआइ - उन्नाव-लालगंज खंड को चार लेन चौड़ीकरण -1602.00 एनएचएआइ - चकेरी से इलाहाबाद खंड को चार लेन से छह लेन चौड़ीकरण -2159.00 लोक निर्माण विभाग- भीमसेन रेलवे स्टेशन का चौड़ीकरण और सुंदरीकरण -13.63 केडीए - फूलबाग में भूमिगत पाॄकग - 70.66 केडीए - शताब्दी नगर में स्टेडियम का निर्माण - 25.22 केडीए - जाजमऊ प्रवेश द्वारा -13.37 केस्को - 14 केस्को स्टेशनों के क्षेत्र में स्काडा तंत्र की स्थापना कार्य और पूरे केस्को ने जीआइएस तंत्र की स्थापना कार्य - 63.80 केस्को - नए सबस्टेशन किदवईनगर से नए 33 केवी का निर्माण - 1153.00 ब्रिज कारपोरेशन - कल्याणपुर पनकी मंदिर पर पनकी पावर हाउस रेलवे क्राङ्क्षसग के ऊपर ओवरब्रिज का निर्माण - 26.73 ब्रिज कारपोरेशन - लखनऊ- कानपुर रेल मार्ग के निकट गंगा चौकी पर ओवर ब्रिज - 44.31 स्मार्ट सिटी - स्मार्ट सिटी आपरेशन सेंटर - 389.87 जल निगम - सीसामऊ समेत पांच नालों को बंद करने का कार्य - 63.80

शहर के सर्वांगीण विकास को प्रस्तावित परियोजनाएं

विभाग परियोजना लागत (रुपये करोड़ में) यूपी राज्य सड़क परिवहन निगम -पीपीपी मॉडल से झकरकटी बस स्टेशन का विकास - 3665.00 एनएचएआइ - 93 किमी रिंग रोड प्रस्तावित - 5332.27 एनएचएआइ - 112 किमी कानपुर-करबई चार लेन रोड - 3751.00 लोक निर्माण विभाग -- मंधना, बैराज, शुक्लागंज, पुरवा-मोहनलालगंज मार्ग -75.00 केडीए - न्यू कानपुर सिटी -2320.00 केडीए - गंगोत्री (मॉडर्न सिटी) योजना - 10,000.00 केडीए - रिवर फ्रंट डेवलपमेंट -800 ब्रिज कारपोरेशन -गोविंदपुरी पुल से दीप टाकीज तिराहे तक चार लेन फ्लाई ओवर - 121.94 ब्रिज कारपोरेशन जरीब चौकी पर रेल ओवर ब्रिज -70.02 ब्रिज कारपोरेशन वीआइपी मार्ग पर सरसैया घाट क्रासिंग से बैराज तक गंगा नदी पर चार लेन ओवरब्रिज और एलीवेटेड - 300.00 ब्रिज कारपोरेशन मेघदूत तिराहे से केस्को पॉवर हाउस तक एलीवेटेड मार्ग -105.00 ब्रिज कारपोरेशन उन्नाव से बैराज सरैया क्रासिंग पर चार लेन ओवर ब्रिज - 84.00