तेजप्रताप यादव का लेट नाइट ड्रामा: धरने पर बैठ नारेबाजी की, लालू-राबड़ी मिलने आये तो पिता का पैर धोया

तेजप्रताप यादव का लेट नाइट ड्रामा: धरने पर बैठ नारेबाजी की, लालू-राबड़ी मिलने आये तो पिता का पैर धोया

हिंदुस्तान लाइव न्यूज:-

पटना:- लालू प्रसाद यादव के परिवार में जारी उठापटक और टशन के बीच तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के तेवर नरम होने का नाम नहीं ले रहे हैं. रविवार को लगभग तीन साल के लंबे अंतराल के बाद जैसे ही उनके पिता लालू प्रसाद यादव पटना पहुंचे तेजप्रताप ने अपने तेवर को और भी बगावती कर लिया. पिता के पटना पहुंचने के बाद तेजप्रताप यादव ने पहले उनको एयरपोर्ट पर रिसीव किया लेकिन राबड़ी आवास में एंट्री नहीं मिली तो धरना दिया जिसके बाद लालू और राबड़ी को भी उनको मनाने की कोशिश करनी पड़ी.

तेजप्रताप यादव अपने आवास के बाहर धरने पर बैठ गए. उनका आरोप था कि लालू यादव से उन्हें मिलने नहीं दिया गया. जब तक वह लालू यादव से मिल नहीं लेते धरने पर बैठे रहेंगे. तेजप्रताप ने यह मैसेज देने की कोशिश की कि परिवार में और पार्टी में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. रविवार की ही देर रात लालू प्रसाद और राबड़ी देवी तेजप्रताप यादव के आवास पर पहंचे तब जाकर उनका गुस्सा शांत हुआ. गुस्से में लाल हो रहे तेजप्रताप यादव अपने पिता लालू प्रसाद के आते ही शांत हो गए और उनका पैर पानी से धोया. तेजप्रताप दूध से भी अपने पिता का पैर धोना चाहते थे, लेकिन उन्हें मना कर दिया गया.

तेजप्रताप ने लगे हाथ ही अपने सबसे बड़े विरोधी और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के खिलाफ भी जमकर आग उगला और उनको आरएसएस का एजेंट तक करार दे दिया. तेजप्रताप यादव ने लालू प्रसाद तक ये बात पहुंचा दी कि जब तक प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह को राजद से नहीं निकालेंगे तब तक हमें राजद से कोई मतलब नहीं है. तेजप्रताप यादव ने जगदानंद सिंह पर आरोप लगाया कि पटना एयरपोर्ट पर हमें उन्होंने धकेला है. लालू के बड़े बेटे का कहना था कि छात्र युवा राजद के के गुंडों के द्वारा भी हमें धकेला गया और जगदानंद सिंह ने भी हमें धक्का देने का काम किया. तेजप्रताप ने कहा कि जगदानंद सिंह आरएसएस का आदमी है और हम जल्द ही एक बहुत बड़ा कदम उठाने जा रहे हैं