केदारनाथ में पीएम मोदी Live: केदारनाथ धाम पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, करेंगे बाबा का जलाभिषेक -

PM Narendra Modi Kedarnath Visit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शुक्रवार को केदारनाथ पहुंचे हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक वह सुबह 7.55 बजे धाम में पहुंचे। वह यहां बाबा का जलाभिषेक करेंगे।

केदारनाथ में पीएम मोदी Live: केदारनाथ धाम पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, करेंगे बाबा का जलाभिषेक -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बाबा केदार के धाम पहुंचे हैं। प्रधानमंत्री मोदी के स्वागत के लिए मंदिर को फूल-मालाओं से सजाया गया है। इसके लिए ऋषिकेश से 15 क्विंटल फूल मंगाए गए हैं।
 
लाइव अपडेट:
उत्तराखंड सरकार में कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ में आदि शंकराचार्य की मूति का लोकार्पण करने वाले हैं। जो नई केदारपुरी यहां बसाई गई है, उसका भी उद्घाटन प्रधानमंत्री के द्वारा किया जाएगा।
प्रधानमंत्री केदारनाथ धाम में लगभग दो घंटे तक रहेंगे। साथ ही वे केदारनाथ से जनता को संबोधित भी करेंगे। 
प्रधानमंत्री केदारनाथ मंदिर में जलाभिषेक के साथ ही आदिगुरु शंकराचार्य समाधि स्थल के पुनर्निर्माण के लोकार्पण के साथ ही मूर्ति का अनावरण भी करेंगे। 
एमआई हेलीकॉप्टर से सुबह 7.55 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ धाम पहुंचे।
पीएम मोदी बाबा केदार के बहुत बड़े भक्त हैं। यहां तपस्या कर उन्होंने अपने जीवन के कई साल गुजारे हैं। उन्हें बाबा के आशीर्वाद पर पूरा भरोसा है। इसलिए वह यहां हर साल जरूर आते हैं और आशीर्वाद लेते हैं। हालांकि कोरोना संक्रमण के कारण वह पिछले साल बाबा केदार के दर्शनों के लिए नहीं आ पाए थे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यात्रा के दौरान केदारनाथ में मौसम खराब होने या किन्हीं अन्य कारणों से गौचर में हेलीकॉप्टर लैंडिंग की वैकल्पिक व्यवस्था की गई है।
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 7.15 बजे एमआई हेलीकॉप्टर से केदारनाथ के लिए रवाना हुए।
नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री की केदारनाथ यात्रा सिर्फ राजनीतिक यात्रा है। 2013 में आई आपदा के दौरान तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने आपदा से निपटने के लिए आठ हजार करोड़ का राहत पैकेज स्वीकृत किया था। उसमें से लगभग चार हजार करोड़ रुपये अवमुक्त भी हुए थे। परंतु जो शेष राशि थी, उसे भाजपा नीत केंद्र सरकार ने आज तक रिलीज नहीं किया है। नैनीताल आपदा के बाद गृहमंत्री के दो बार उत्तराखंड आने के बाद भी अब तक कोई राहत पैकेज जारी नहीं किया। प्रधानमंत्री की केदारनाथ यात्रा सिर्फ राजनीतिक यात्रा है, उन्हें उत्तराखंड में अब कुछ हासिल नहीं होने वाला है।
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 6.48 बजे देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर विशेष विमान से पहुंचे। मुख्यमंंत्री पुष्कर सिंह धामी, विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल, पूर्व मुख्य्मंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, मुख्य सचिव एसएस संधू, मेयर सुनील उनियाल गामा, मंत्री सुबोध उनियाल समेत कई विधायक और संगठन के पदाधिकारी उनके स्वागत के लिए मौजूद रहे.

चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी की नजर -
दीपावली के शुभ अवसर पर केदारनाथ मंदिर को रंग-बिरंगी लाइटों से सजाया गया। मंदिर में आरती की गई। धाम में लोगों ने दिवाली मनाई और पटाखे फोड़े। वहीं प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर यहां सुरक्षा के पुख्ता प्रबंधक किए गए हैं। रुद्रा प्वाइंट से केदारनाथ मंदिर और ध्यान गुफा समेत गरुड़चट्टी तक पुलिस, पीएससी समेत अन्य सुरक्षा फोर्स के जवान मुस्तैद हैं। चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी की नजर है। 

पीएम मोदी का केदारनाथ दौरा: कांग्रेस ने बताया राजनीतिक मार्केटिंग, जवाब में आज शिवालयों में जलाभिषेक करेंगे कांग्रेसी
गौरीकुंड से केदारनाथ के बीच पड़ावों व अन्य चिह्नित स्थानों पर जवान तैनात हैं। केदारनाथ में मंदिर मार्ग पर बैरिकेडिंग की गई है। प्रधानमंत्री का कार्यक्रम शुक्रवार सुबह छह बजे से पूर्वाह्न 11.30 बजे के बीच है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ धाम में लगभग दो घंटे तक रहेंगे। साथ ही वे केदारनाथ से जनता को संबोधित भी करेंगे। 

12 ज्योतिर्लिंगों को ऑनलाइन कनेक्ट करने की भी तैयारी
केदारनाथ समेत देश की सभी दिशाओं में स्थापित 12 ज्योतिर्लिंगों को ऑनलाइन कनेक्ट करने की भी तैयारी है। पीएम के दौरे के माध्यम से एक साथ सभी ज्योतिर्लिंगों को जोड़ने का प्रयास होगा। 

पीएम मौदी के दौरे के समय यात्री, बाबा केदार के दर्शन नहीं कर सकेंगे। केदारघाटी से केदारनाथ के लिए हेलीकॉप्टर का संचालन भी बंद रहेगा। प्रदेश में 35 शिवालयों में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का ऑनलाइन प्रसारण होगा।


मैसूर के मूर्तिकार योगीराज शिल्पी ने तैयार की है शंकराचार्य की प्रतिमा 

श्री केदारनाथ धाम में आदिगुरु शंकराचार्य की 12 फीट ऊंची कृष्णशिला पत्थर से बनाई गई है। मैसूर के प्रसिद्ध मूर्तिकार योगीराज शिल्पी ने 120 टन के पत्थर पर शंकराचार्य की प्रतिमा को तराशा है। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रतिमा का अनावरण करेंगे। वर्ष 2013 में आई आपदा में शंकराचार्य की समाधि बह गई थी।

विशेष डिजाइन से तैयार की गई है आदिगुरु शंकराचार्य की समाधि
प्रतिमा की चमक के लिए उसे नारियल पानी से पॉलिश किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिशा-निर्देश में केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों के तहत आदिगुरु शंकराचार्य की समाधि विशेष डिजाइन से तैयार की गई है। आदिगुरु शंकराचार्य की समाधि केदारनाथ मंदिर के ठीक पीछे छह मीटर जमीन की खुदाई कर बनाई गई है।

समाधि के मध्य में मैसूर के मूर्तिकारों द्वारा तैयार प्रतिमा स्थापित की गई है। आदिगुरु शंकराचार्य की प्रतिमा निर्माण के लिए देश भर के मूर्तिकारों की ओर से अपना मॉडल पेश किया गया था। जिसके बाद प्रधानमंत्री कार्यालय से योगीराज शिल्पी को प्रतिमा तैयार करने के लिए अनुबंध किया गया था।