राष्ट्रपति चुनाव: राष्ट्रपति पद के लिए द्रौपदी मुर्मू होगी एनडीए उम्मीदवार

झारखंड के पूर्व राज्यपाल और ओडीशा की आदिवासी भाजपा नेता द्रोपदी मुर्मू एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार होंगी

राष्ट्रपति चुनाव: राष्ट्रपति पद के लिए द्रौपदी मुर्मू होगी एनडीए उम्मीदवार

नई दिल्ली: राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए की ओर से  द्रौपदी मुर्मू को उम्मीदवार घोषित किया गया है

मंगलवार भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय संसदीय बोर्ड  चली बैठक के बाद राष्ट्रपति पद के लिए द्रौपदी मुर्मू के नाम पर मुहर लगाई हैं. केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा गृह मंत्री अमित शाह रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह केंद्रीय मंत्री समेत बोर्ड के सभी सदस्य मौजूद

आइए जानते हैं द्रोपदी मुर्मू से जुड़ी कुछ बातें

द्रौपदी का जन्म 20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरभंज जिले के बैदापोसी गांव में हुआ था। उनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू है। वह संथाल परिवार से ताल्लुक रखती हैं, जो एक आदिवासी जातीय समूह है।

द्रौपदी की शादी श्याम चरण मुर्मु से हुई थी जो अब इस दुनिया में नहीं है। उनके दो बेटे थे जो अब जीवित नहीं है और एक बेटी है जिसका नाम इतिश्री मुर्मु है.

 उन्होंने सिंचाई और बिजली विभाग के हिस्से के रूप में ओडिशा सरकार के साथ काम किया।

मुर्मू के राजनीतिक करियर की शुरुआत 1997 में हुई जब उन्होंने पार्षद के रूप में स्थानीय चुनाव जीते। उसी वर्ष, वह भाजपा के एसटी मोर्चा की राज्य उपाध्यक्ष बनीं। 

भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर मुर्मू ने रायरंगपुर सीट से दो बार जीत हासिल की, 2000 में ओडिशा सरकार में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनी ।

ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी और बीजू जनता दल गठबंधन सरकार के दौरान, वह 6 मार्च, 2000 से 6 अगस्त, 2002 तक वाणिज्य और परिवहन के लिए स्वतंत्र प्रभार मंत्री रही।

साल 2007 में द्रोपदी मुर्मू को संयोग से ओडिशा विधानसभा द्वारा वर्ष का सर्वश्रेष्ठ विधायक होने के लिए सम्मानित किया गया था।

 उन्होंने भाजपा के भीतर कई प्रमुख भूमिकाएँ निभाईं, एसटी मोर्चा के राज्य अध्यक्ष और मयूरभान के भाजपा जिलाध्यक्ष के रूप में कार्य किया।

6 अगस्त, 2002 से मई 16, 2004 तक मत्स्य पालन और पशु संसाधन विकास राज्य मंत्री थीं।

ओडिशा की विधान सभा ने उन्हें वर्ष 2007 के सर्वश्रेष्ठ विधायक के लिए “नीलकंठ पुरस्कार” से सम्मानित किया।

उन्हें 2013 में मयूरभंज जिले के लिए पार्टी के जिला अध्यक्ष पद के लिए पदोन्नत किया गया था।

मई 2015 में, भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें झारखंड के राज्यपाल के रूप में चुना। वह झारखंड की पहली महिला राज्यपाल हैं। वह ओडिशा की पहली महिला और आदिवासी नेता हैं जिन्हें भारतीय राज्य में राज्यपाल नियुक्त किया गया है।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान 18 जुलाई को होना है और मतगणना 21 जुलाई को होनी है। 29 जून नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख है।

राष्ट्रपति चुनाव के एनडीए प्रत्याशी द्रोपदी मुर्मू अगर जीती है तो वह ओड़िशा से इस पद आसीन होने वाली पहली राष्ट्रपति होंगी. इतना ही नहीं वह देश के सबसे युवा राष्ट्रपति बनेगी