धर्मांतरण के आरोप पर हंगामे की सूचना पाकर पहुंची पुलिस, आरोपित पादरी हिरासत में

लालबंगला के काजीखेड़ा निवासी गुलाब वर्मा ने आरोप लगाया कि एक पादरी ने अपने साथियों के साथ मिलकर रूपये का लालच देकर कुछ माह पहले उनकी पत्नी और दो बेटियों का मतांतरण करा दिया।

धर्मांतरण के आरोप पर हंगामे की सूचना पाकर पहुंची पुलिस, आरोपित पादरी हिरासत में

चकेरी में एक परिवार के सदस्यों पर जबरन मतांतरण कराने का आरोप लगाकर बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया। पीड़ित ने एक पादरी और उसके साथियों पर पत्नी व बेटियों का मतांतरण का आरोप लगाया। साथ ही यह शिकायत की अब उस पर जबरन मतांतरण का दबाव बनाया जा रहा है। हंगामे की सूचना पर पहुंची चकेरी पुलिस ने पादरी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। वहीं घटना की जानकारी होने पर ईसाई धर्म से जुड़े लोग भी थाने पहुंचे। जिन्होंने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई और अभद्रता का आरोप लगाया।। 

लालबंगला के काजीखेड़ा निवासी गुलाब वर्मा ने आरोप लगाया कि एक पादरी ने अपने साथियों के साथ मिलकर रूपये का लालच देकर कुछ माह पहले उनकी पत्नी और दो बेटियों का मतांतरण करा दिया। जिसके बाद उनकी पत्नी उन लोगों के कहने पर उन पर जबरन मतांतरण का दबाव बना रही है। जिसको लेकर अक्सर परिवार में विवाद होता है। जिसकी जानकारी पीड़ित ने बजरंगदल और विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं को दी। जिसके बाद रविवार को विश्व हिंदू परिषद के जिलाध्यक्ष हेमंत सेंगर, उपाध्यक्ष आनंद सिंह, अजय सिंह बजरंग दल से विभाग संयोजक अमर नाथ समेत अन्य कार्यकर्ता मौके पर पहुंचकर हंगामा किया। हंगामे की सूचना पर पहुंची पुलिस पादरी को हिरासत में लेकर थाने ले गई।। 

जिसकी जानकारी होने पर ईसाई समाज से जुड़े लोग थाने पहुंचे। जिन्होंने बताया कि पादरी के घर पर मतांतरण के लगाए जा रहे आरोप गलत बताए। साथ ही विहिप और बजरंगदल कार्यकर्ताओं पर पादरी के घर में घुसकर मारपीट और तोड़फोड़ के साथ पुलिस पर भी एकतरफा कार्रवाई व अभद्रता का आरोप लगाया। थाना प्रभारी मधुर मिश्रा ने बताया कि दोनों पक्षों को थाने लाकर पूछताछ की जा रही है। जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।