US Air Force: भारतीय मूल के दर्शन शाह को ड्यूटी के दौरान तिलक लगाने की अनुमति दी.

भारतीय मूल के अमेरिकी वायुसेना के जवान दर्शन शाह को 22 फरवरी 2022 को पहली बार वर्दी के साथ तिलक चांदलो लगाने की अनुमति दी गई है. तिलक लगाने की परमिशन मिलने के बाद दर्शन शाह अलग-अलग जगह पर रह रहे दोस्त उन्हें और उनके माता-पिता को को इसके बारे में मैसेज भेज रहे हैं.

US Air Force: भारतीय मूल के दर्शन शाह को ड्यूटी के दौरान तिलक लगाने की अनुमति दी.

कानपुर: भारतीय मूल के दर्शन शाह को ड्यूटी के दौरान अमेरिकी एयरफोर्स  की तरफ से तिलक लगाने की अनुमति मिल गई है. वह एफई वॉरेन एयर फोर्स बेस, व्योमिंग में तैनात हैं, ड्यूटी के दौरान तिलक लगाने की पिछले 2 साल से मांग कर रहे थे. दर्शन शाह की इस मांग को लेकर पूरी दुनिया से ऑनलाइन चैट ग्रुप के माध्यम उन्हें समर्थन मिला.

अमेरिकी वायुसेना के इस फैसले से खुश दर्शन शाह ने कहा कि यह कुछ नया है. यह कुछ ऐसा है जिसके बारे में उन्होंने पहले कभी नहीं सुना या सोचा भी नहीं जा सकता था, लेकिन ऐसा हुआ. बता दें कि शाह एक गुजराती परिवार में ईडन प्रेयरी, मिनेसोटा में बड़े हुए हैं, जो बोचासनवासी श्री अक्षर पुरुषोत्तन स्वामीनारायण संस्था के अनुयायी हैं.

दर्शन शाह की वायु सेना में कम से कम 20 साल सेवा करने की योजना है. वह एक कमीशन अधिकारी बनना चाहता है और अपनी डिग्री हासिल करने के बाद एक डॉक्टर के रूप में काम करना चाहता है. फ्रांसिस ई वारेन एयर फ़ोर्स बेस एक यूएस एयर फ़ोर्स बेस है जो सेयेन, व्योमिंग से तीन मील पश्चिम में स्थित है. यह अमेरिका के तीन रणनीतिक मिसाइल अड्डों में से एक है. 

इससे पहले अमेरिकी सेना सिख सैनिकों को पगड़ी और दाढ़ी रखने की भी इजाजत दे चुकी है.

संवाददाता अभिषेक गुप्ता की खास रिपोर्ट