नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार

वरिष्ठ पत्रकार कमाल खान के निधन से पत्रकारिता जगत में गहरी शोक की लहर है. कमाल खान से जुड़े मित्र और वरिष्ठ पत्रकार यह खबर सुनकर स्तब्ध है.

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार

टीवी पत्रकार कमाल खान का आज सुबह दिल का दौरा पड़ने पर एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित किया.

उत्तर प्रदेश के जाने-माने टीवी पत्रकार कमाल खान का आज सुबह निधन हो गया है वह 62 साल के उम्र के थे.एनडीटीवी के लखनऊ ब्यूरो प्रमुख थे.अपने बेबाक, अंदाज दिल को छू लेने वाली पत्रकारिता, अलग ही अंदाज की आवाज के लिए जाने जाते थे.

कमाल खान की स्क्रिप्टिंग ऐसी हुआ करती थी, जिसके सब कायल थे और जिस तरह वह शब्दों, कहावतो , दोहो का इस्तेमाल करते थे, यह उनका बहुत ही अलग अंदाज हुआ करता था.

कमाल खान के बेहतरीन काम के लिए भारत के राष्ट्रपति द्वारा गणेश शंकर विद्यार्थी तथा उत्कृष्ट पत्रकारिता के लिए रामनाथ गोयनका अवार्ड से सम्मानित किए जा चुके हैं.

एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने कहा कि वह कमाल खान के निधन की खबर सुनकर सदमे में है उन्होंने कहा ना" सिर्फ उनके सहयोगीयों बल्कि टीवी न्यूज़ के करोड़ों दर्शकों के लिए यह एक बहुत ही दुखद और अफसोसनाक खबर है हम सब के लिए यकीन करना मुश्किल हो रहा है कि कमाल खान अब हमारे बीच नहीं रहे. उनके बारे में बहुत से बातें की जा सकती है लेकिन इस वक्त  ऐसा सदमा लगा है कि ना कुछ याद आ रहा है ना कुछ समझ में आ रहा है कि उनके बारे में क्या कहा जाए." 

कमाल खान के निधन की खबर सुनकर राजनीतिक दलों तथा नेताओं ने भी शोक जाहिर किया है और साथ ही साथ टीवी न्यूज़ चैनल और वरिष्ठ पत्रकारों ने भी उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी है

H लाइव न्यूज़ नेटवर्क के परिवार की ओर से "भावपूर्ण श्रद्धांजलि"

संवाददाता अभिषेक गुप्ता