योगी सरकार के राज में क्या सच में सुरक्षित हैं बेटियां ...?

अलग-अलग जिलो में पीड़िता को बनाता रहा अपनी दरिंदगी का शिकार ||

योगी सरकार के राज में क्या सच में सुरक्षित हैं बेटियां ...?

वो खाकी की चौखट पर गिडगिड़ाई उसने पुलिस से भी खूब मिन्नतें की ,

वो मार खाती रही और तड़पती रही ,

जहाँ-जहाँ पीड़िता से लोग जुड़ते रहे वहाँ से बदल देता जगह , 

अलग-अलग जिलो में पीड़िता को बनाता रहा अपनी दरिंदगी का शिकार ,

वो प्यार नहीं बल्कि करता रहा बलात्कार ...!

ये कहानी कोलकाता की रहने वाली एक पीड़िता की है जिसे बलात्कारी की चुंग से छुटकारा मिलने में एक साल लग गया। पीड़िता जयपुर से और आरोपी अजमेर से ट्रेन में एक साथ सफर कर रहे थे
सफर के दौरान पीड़िता से बातचीत करते हुए आरोपी ने नौकरी का झांसा दोस्ती करली नौकरी के नाम पर पहले अजमेर के निजी होटल, फिर गुलावठी थाना के क्षेत्र के विकास कॉलोनी,
फिर हापुट जनपद के हाफिजपुर थाना क्षेत्र के गाँव हर्दयपुर और फिर एक माह तक अयोध्या जनपद के घर में बन्दी बनाकर मारपीट कर बलात्कार करता रहा साथ ही पीड़िता को शादी का झांसा भी देता रहा
किसी तरह पीड़िता ने उनके घुंगळ से छुटकारा पाकर अपने घर पहुंचकर आपबीती अपने परिजनों को सुनाई।
पीड़िता के परिजनों जैसे नजदीकी पुलिस स्टेशन का सहारा लिया तो यू०पी०पुलिस और कोलकाता पुलिस ने अलग अलग राज्य की अलग अलग सरकार को कारण बताकर रफा दफा करना चाहा लेकिन पीड़िता ने हार नहीं मानी और सोशल मीडिया का सहारा लिया
पीड़िता ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी का नाम राजू तिवारी पुत्र कमल तिवारी हापुड़ जनपद के हाफिजपुर थाना क्षेत्र के गाँव हर्दयपुर में एल टी कंपनी में कॉन्ट्रेक्टर के रूप में कार्य कर रहा है।
यहाँ भी वसीम नाम के व्यक्ति के घर पर लगातार उसके साथ बलात्कार किया गया वीडियो देख मुकदमा दर्ज कर कोलकाता सरकार एवं प्रशासन ने दोषियों के खिलाफ उचित करवाई का आश्वासन दिया। अपने मामले की पीड़िता ने जानकारी देते हुए हापुड़ एवम अयोध्या पुलिस अधीक्षक से भी  लगाई इंसाफ की गुहार ।।

उत्तरप्रदेश से क्राइम रिपोर्ट