World Bicycle Day 2022 : क्यों मनाया जाता है विश्व साइकिल दिवस, क्या है इसका महत्व और साइकिल चलाने के फायदे !

हर साल 3 जून को विश्व साइकिल दिवस मनाया जाता है. इसका उद्देश्य लोगों को साइकिल चलाने के फायदों के प्रति लोगों को जागरुक करना है. आइए आपको बताते हैं कि साइकिल चलाने से सेहत को क्या फायदे मिलते हैं.

World Bicycle Day 2022 : क्यों मनाया जाता है विश्व साइकिल दिवस, क्या है इसका महत्व और साइकिल चलाने के फायदे !

साइकिल चलाना सिर्फ पर्यावरण के लिहाज से ही अच्छा नहीं है, बल्कि हमारी सेहत के लिए भी ये बहुत फायदेमंद है. साइकिल चलाना वातावरण को प्रदूषण मुक्त रखने का एक बेहतर तरीका है. साथ ही इसे चलाने से शरीर की अच्छी खासी एक्सरसाइज हो जाती है. इससे वजन कम करने में तो सहायता मिलती ही है, साथ ही मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं. सा​इकिल चलाने की उपयोगिता को समझाने के लिए ही 3 जून, 2018 में संयुक्त राष्ट्र महासभा की ओर से न्यूयॉर्क में पहली बार विश्व साइकिल दिवस (World Bicycle Day) मनाया गया था. तब से हर साल इस दिन को सेलिब्रेट किया जाता है.

इस बार 3 जून को पांचवां विश्व साइकिल दिवस मनाया जाएगा. साइकिल के इस्तेमाल के प्रति लोगों जागरुक करने के लिए इस दिन लोग स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक संस्थानों, ऑफिस आदि तमाम स्थानों पर सा​इकिल चलाकर जाते हैं. विश्व सा​इकिल दिवस के मौके पर आइए आपको बताते हैं साइकिल चलाने से सेहत को क्या फायदे मिलते हैं.

डायबिटीज नियंत्रित होती
जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या है, उनके लिए फिजिकल वर्कआउट बहुत जरूरी है. ऐसे में वे सा​इक्लिंग कर सकते है. रोजाना करीब 30 मिनट साइकिल चलाने से शुगर लेवल नियंत्रित होती है. जिन लोगों को डायबिटीज नहीं है, वे इसके रिस्क से बचे रहते हैं.

वजन कंट्रोल होता
जो लोग वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए भी साइकिल चलाना बेहद अच्छा वर्कआउट है. विशेषज्ञों की मानें तो रोजाना एक घंटे तक साइकिल चलाकर करीब 300 कैलोरीज को बर्न किया जा सकता है. इसके अलावा ये आपके बेली फैट को भी नियंत्रित करती है. लेकिन इसके साथ अपने खानपान की आदतों को भी नियंत्रित करना जरूरी है.

तनाव कम करती है साइकिल
तमाम रिसर्च बताती हैं कि साइकिल चलाने से मूड बेहतर होता है और शरीर में तनाव का स्तर कम होता है. इसके अलावा जो लोग सा​इकिल चलाते हैं, उन्हें नींद बेहतर तरीके से आती है. ऐसे में व्यक्ति गुस्से और डिप्रेशन जैसी तमाम समस्याओं से बचा रहता है.

फेफड़े होते मजबूत
साइकिल चलाने से आपके फेफड़े भी मजबूत होते हैं. दरअसल साइकिलिंग करते समय हम सामान्य से गहरी सांसें भरते हैं. ऐसे में फेफड़ों तक ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन पहुंचती है. इससे शरीर में ब्लड फ्लो बेहतर होता है और फेफड़ों की कार्यक्षमता में सुधार होता है. इससे फेफड़ों को मजबूती मिलती है.

इम्यून सिस्टम होता दुरुस्त
साइकिल चलाने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है. साथ ही इसे चलाने से हृदय रोग, स्ट्रोक, उच्च रक्तचाप और दिल के दौरे के जोखिम कम होता है.