योगी सरकार के साढ़े चार साल: मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने दिया रिपोर्ट कार्ड, बोले- अब सुशासन ही प्रदेश की पहचान-

योगी सरकार के साढ़े चार साल: मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने दिया रिपोर्ट कार्ड, बोले- अब सुशासन ही प्रदेश की पहचान-

यूपी सरकार के साढ़े चार साल पूरे होने पर लोकभवन में मीडिया को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा के साढ़े चार साल के शासन के बाद अब सुशासन और विकास उत्तर प्रदेश की पहचान है। प्रदेश में साढ़े चार लाख युवाओं को नौकरी दी गई है। सरकार के किए गए सुधार व विकास कार्यों का ही यह असर है कि आज प्रदेश निवेश के लिए पहले स्थान पर हैं। पहले उद्योगपति यहां आने से डरते थे पर अब वह यहां पर निवेश करना चाहते हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कही ये बातें: 
- केंद्र द्वारा संचालित योजनाओं में से 44 योजनाओं में प्रदेश पहले स्थान पर है। 
- एक करोड़ 56 लाख लोगों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस कनेक्शन दिए गए। 
- तीन करोड़ श्रमिकों को दो लाख रुपये की सामाजिक सुरक्षा की गारंटी दी गई। 
- प्रदेश के छह करोड़ लोगों को आयुष्मान योजना का लाभ मिला। 
- प्रदेश के 40 लाख गरीबों को राशन कार्ड दिया गया। 
- किसानों के लिए कई सिंचाई योजनाओं को आगे बढ़ाया। 
- बंद चीनी मिलों को शुरू किया गया। 
- गन्ना किसानों को सही भुगतान किया गया। 
- प्रदेश के एक लाख 43 हजार किसानों को गन्ने का भुगतान किया गया। 
- प्रदेश में पहला इंवेस्टर्स समिट का आयोजन किया। जिससे लोगों की सोच प्रदेश के बारे में बदली। 
- अयोध्या में भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया गया। इसके पहले की सरकारों के मुख्यमंत्री अयोध्या नहीं जाते थे। डरते थे कि उन पर सांप्रदायिकता का लेवल लग जाएगा पर अब हर वर्ष वहां भव्य दीपोत्सव का आयोजन किया जा रहा है।

- मथुरा में होली मनाई जाती है। इस सरकार में प्रदेश की विरासत को दुनिया के सामने रखने का प्रयास किया गया। 
- लोगों को रोजगार देने के लिए वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट की योजना पर काम किया जा रहा है। 
- यूपी में अब कानून का राज है। प्रदेश में पिछले साढ़े चार साल में एक भी दंगा नहीं हुआ। 
- योगी ने कहा कि पहले गुंडों को सत्ता का संरक्षण प्राप्त था और अब अपराधियों की संपत्ति जब्त की जा रही है। 
- पहले ट्रांसफर व पोस्टिंग में खूब लेन-देन होता था पर अब ऐसा बिल्कुल नहीं होता है। 
-पिछले साढ़े चार साल में साफ-सुथरे ढंग से साढ़े चार लाख युवाओं को नौकरियां दी गईं। 
- 'ईज आफ डूइंग बिजनेस' में प्रदेश 14वें से दूसरे स्थान पर आया है। प्रदेश में निवेश का माहौल बना है। 
- यूपी एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित हो रहा है। 
- पहले ताश के पत्तों की तरह नौकरशाही फेंट दी जाती थी पर अब प्रशासन में स्थिरता है।