गरीब बच्चों के जीवन में शिक्षा का उजियारा भर रहा अर्पण यूथ इंडिया फाउंडेशन के अर्पण , फरमान , प्राची , तुषार और मान्या।

गरीब बच्चों के जीवन में शिक्षा का उजियारा भर रहा अर्पण यूथ इंडिया फाउंडेशन के अर्पण , फरमान , प्राची , तुषार और मान्या।

 बचे शिक्षित होंगे तो ही आगे चल कर घर-परिवार और समाज के लिए उपयोगी साबित होंगे।

गरीब बच्चों को शिक्षा प्रदान करना पुण्य का कार्य है। यही सोच कर कई वर्ष पहले अर्पण गुप्ता ने सामाजिक संस्था अर्पण युथ इंडिया फाउंडेशन बनाया और गरीब बच्चों के जीवन में शिक्षा का उजियारा भरने का संकल्प लिया। फ़रमान, प्राची, तुषार और मान्या के जुड़ने के बाद संस्था की गतिविधियां बढ़ी हैं। मिशन शिक्षा की ओेर से लगभग 2 वर्ष पहले गरीब बच्चों के लिए एक पाठशाला चलती थीं, अब संस्था की ओर से दो पाठशालाएं चल रही हैं।

यहां बच्चों को निश्शुल्क पढ़ाया जाता है। इन पाठशालाओं में गरीब परिवारों के लगभग 125 बच्चे पढ़ रहे हैं। एक पाठशाला परमट घाट , डिफेंस कालोनी में चल रही हैं। डिफेंस कालोनी पाठशालाओं में लगभग 50 बच्चे पढ़ रहे हैं। इन पाठशालाओं का संचालन अर्पण गुप्ता कर रही हैं। अधिकांश बच्चे मजदूर परिवार के हैं, जिनके लिए कापी, किताबों की व्यवस्था संस्था के माध्यम से संतोष अरोड़ा ही करती हैं। फरमान कहते हैं कि अब बच्चों को पढ़ाने के साथ ही आर्ट एड क्राफ्ट का प्रशिक्षण देना भी शुरू कर दिया है। सप्ताह में तीन दिन आर्ट एंड क्राफ्ट की कक्षा चलती है। उनका उद्देश्य है कि बच्चे पढ़ाई के साथ रचनात्मक कार्यों से भी जुड़े रहें। बच्चे कुछ सीखेगे, तो प्रतिभा में निखार आएगा। फरमान खान कहते हैं कि बारहवीं कक्षा की छात्रा प्राची और ग्यारहवीं के छात्र निखिल पाठशाला में प्राइमरी के बच्चों को पढ़ाते हैं। इसके अलावा मान्य इन पाठशालाओं को चलाने में उनका सहयोग करते हैं।

-------

इन बच्चों के जीवन में लाईं सुधार

किदवई नगर निवासी फरमान कहते हैं कि कुछ वर्ष पहले घर की आर्थिक स्थिति ठीक नही थी।  ऐसे में जब उन्हें अपनी कालोनी में आर्ट एंड क्राफ्ट के प्रशिक्षण के बारे में पता चला, तो उन्होंने अर्पण गुप्ता से इसका प्रशिक्षण लिया। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद अब इवेंट कराते हैं। इस तरह से अर्पण गुप्ता गरीबी उन्मूलन में भी अपना योगदान दे रहे हैं।