एक ईसाई पादरी द्वारा धर्मांतरण का आया मामला ||

मसीहा संगठन - मानवाधिकार क़े राष्ट्रीय अध्यक्ष अभिषेक कुमार जी क़े पास एक ईसाई पादरी द्वारा धर्मांतरण का मामला आया.!

एक ईसाई पादरी द्वारा धर्मांतरण का आया मामला ||

जिसमें उनको बताया गया कि, कानपुर क़े लालबंगला एरिया में एक ईसाई पादरी हैं, जिनका नाम पप्पू यादव है, जो कानपुर महानगर क़े लालबंगला एरिया में अपना एक चर्च चलाते हैं.! उन पादरी को कुछ शरारती तत्वों द्वारा, झूठा धर्मांतरण का आरोप लगा कर उनपर और उनकी 22 वर्षीय बेटी पर और उनकी पत्नि पर और उनकी चर्च की 2 और महिलाओं पर पुलिस में झूठी शिकायत दर्ज कराई गई है, और पुलिस द्वरा सभी लोगों को बिना किसी पूछ - ताछ क़े थाने में ले जाकर बेवजह मानसिकरूप से परेशान किया जा रहा है.!


जब इनसभी मामलों क़े बारे में मसीहा संगठन - मानवाधिकार क़े  राष्ट्रीय अध्यक्ष अभिषेक कुमार जी नें कानपुर क़े पास्टर्स एसोसिएशन क़े एक व्यक्ति से फोन पर बात की, तो उन्होंने बताया कि, पुलिस बेवजह उनलोगों को थाने ले जाकर टॉर्चर कर रही है, और झूठे धर्मांतरण क़े मामले फ़साने की योजना बना रही है.!


जैसा कि उस व्यक्ति नें बताया, कि जब पास्टर्स एसोसिएशन क़े लोग चकेरी थाना कानपुर नगर क़े इंचार्ज मधुर मिश्रा जी से इन सभी मामलों क़े बारे में बात करने गए, तो मधुर मिश्रा जी नें अपनीं ड्यूटी बंदूक लोड करते हुए ये बोला कि, तुमलोग थाने से बाहर निकल जाओ, नहीं तो तुम सबको कोरोना एक्ट क़े अंतर्गत थाने में बंद करवा दूँगा और इन सब बातों क़े दौरान मधुर मिश्रा जी नें लाठी भी उठा ली पास्टर्स एसोसिएशन क़े लोगों को मारने क़े लिए.!


तो पास्टर्स एसोसिएशन क़े लोग जान बचा कर थाने क़े बाहर भागे.!
तो तुरंत इस मामले को संज्ञान में लेते हुए
मसीहा संगठन - मानवाधिकार क़े राष्ट्रीय अध्यक्ष अभिषेक कुमार जी नें कानपुर क़े पुलिस विभाग क़े आला अफसरों से इस घटना क़े संबंध में बात की, और पुलिस क़े इस रवैये क़े बारे में बताया.!


तो रात्रि क़े लगभग 9 बजे क़े 
आस -पास इस मामले में चकेरी थाना क़े थाना इंचार्ज नें दोनों पक्षों में सुलह समझौता करा दोनों पक्षों को उनके घर जाने दिया.!
इसके बाद मसीह समाज क़े लोगों नें इन मामलों क़े संबंध में मसीहा संगठन - मानवाधिकार क़े राष्ट्रीय अध्यक्ष अभिषेक कुमार जी को धन्यवाद दिया और संगठन द्वारा किये जा रहे इस तरह क़े सभी सामाजिक कार्यों की तारीफ़ की.!