सभी गांव में आंगनबाड़ी केंद्रों के द्वारा चलाया गया अभियान ||

गिरियक प्रखंड के रैतर पंचायत के सभी गांव में आंगनबाड़ी केंद्रों के द्वारा अभियान चलाया गया ||

सभी गांव में आंगनबाड़ी केंद्रों के द्वारा चलाया गया अभियान ||

नशा मुक्त बिहार, बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ को लेकर जागरूकता अभियान चलाया गया।
आंगनबाड़ी के पोषक क्षेत्र में पर्यवेक्षिका, सेविका,सहायिका चला रही कार्यक्रम। गिरियक प्रखंड के रैतर पंचायत के सभी आंगनवाड़ी केंद्रों से पोषक क्षेत्र में जागरूक करती महिलाएं।
गिरियक(नालंदा)गिरियक प्रखंड के बाल विकास परियोजना के तहत विभिन्न तरह का कार्यक्रम किया गया।

जिसमें जिले के प्रखंड के रैतर पंचायत के बेलदरिया और भोजपुर गांव के आंगनबाड़ी केंद्र के सेविका ऊषा देवी एवं महिला पर्यवेक्षिका मिताली महेश्वरी ने रंगोली एवं बैनर के तले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा चलाए जा रहे, नशा मुक्त बिहार,दहेज प्रथा एवं बाल विवाह के योजनाओं को आगे बढ़ाने का कार्य रही है। गिरियक प्रखंड के बाल विकास पदाधिकारी चंद्रकांति एवं महिला पर्यवेक्षिका मिताली महेश्वरी बेलदरिया गांव जाकर बैनर के तले महिलाएं एवं बच्चियों को जागरूक करने का कार्य कर रही है।


इस अभियान को गिरियक प्रखंड के बाल विकास परियोजना के पदाधिकारी चंद्रकांति कुमारी एवं महिला प्रवेशिका मिताली महेश्वरी, सेविका, सहायिका द्वारा इस कार्यक्रम को गति दी जा रही है ।इस अभियान के दौरान लोगों को बाल विवाह करने एवं दहेज उन्मूलन में भागीदारी बढ़ने के लिए जागरूक किया जा रहा है। बाल विवाह करने से बच्चियों कि जिंदगी किस तरह खतरे में पड़ जाती है, और उनका स्वास्थ्य पर कितना बुरा प्रभाव पड़ता है। इस अभियान के दौरान आम जनों को बिना दहेज के शादी करने के लिए उत्साहित किया जा रहा है, साथ ही नशा मुक्त बिहार को लेकर एकजुट होने और सरकार एवं प्रशासन को मदद करने की बात बताई जा रही है। साथ ही कोविड-19 एवं बूस्टर लेने के लिए प्रेरित कर रही है।

इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभातफेरी भी निकाली जा रही है, जिसमें गांव की महिलाएं एवं बच्चियां शिरकत कर रही है। घर-घर जाकर लोगों को सरकार के कार्यक्रम की जानकारी दे रही है।इस कार्यक्रम के तहत गिरियक प्रखंड के रैतर पंचायत के भोजपुर, बेलदरिया रैतर आदि गांव के आंगनबाड़ी केंद्रों में गुरुवार को बैनर तले कार्यक्रम अभियान निकाला गया।ग्रामीणों के घर जाकर उन्हें अपने बच्चे बच्चियों की शादी सरकार द्वारा निर्धारित उम्र पर करने और दहेज  मांग नहीं करने नशा करने बालों के खिलाफ महिलाओं को एकजुट होने तथा जिन लोगों को कोरोनावायरस वैक्सीन अभी तक नहीं लिए हैं, उन्हें वैक्सीन लेने के लिए जागरूक किया।

गिरियक प्रखंड सीडीपीओ चंद्रकांति कुमारी ने बताया कि मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को लेकर ग्रामीण इलाकों में लोगों को सरकार की योजनाओं के साथ-साथ नशा से दूर रहने की लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है उन्होंने कहा कि परिवार में किसी व्यक्ति की के नशा की लत पड़ने से सबसे अधिक महिलाओं को परेशानी होती है। नशेड़ी महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करते हैं.इसलिए उन्होंने हर बिंदु पर जागरूक किया जा रहा है।जब महिलाएं नशा के खिलाफ मुखर होगी तो नशेड़ी अपनी लत में सुधार लाएंगे।
आंगनबाड़ी के पोषक क्षेत्र में पर पर्यवेक्षिका मिताली महेश्वरी, सेविका सहायिका चला रही कार्यक्रम। 
गिरियक प्रखंड के रैतर पंचायत के सभी आंगनवाड़ी केंद्रों में पोषक क्षेत्र में जागरूक करती महिलाएं।


नालंदा जिला ब्यूरो विवेक कुमार की रिपोर्ट