पापियों का संरक्षण कर रही सरकार- योगी सरकार पर कांग्रेस नेता ने लगाया आरोप तो एंकर बोले, ‘किस पापी को बचा रही सरकार

आखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत की जांच 18 सदस्यीय स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम (SIT) को सौंप दी गई है।

पापियों का संरक्षण कर रही सरकार- योगी सरकार पर कांग्रेस नेता ने लगाया आरोप तो एंकर बोले, ‘किस पापी को बचा रही सरकार

इस मामले में पुलिस ने सुसाइड नोट के आधार पर नरेंद्र गिरी के शिष्य आंनद गिरी को गिरफ्तार किया है। एसआईटी इस बात की जांच करेगी कि नरेंद्र गिरी ने खुदकुशी की या ये मामला हत्या का है। इस मुद्दे को लेकर कई लोग सीएम योगी आदित्यनाथ को भी घेर रहे हैं। कांग्रेस नेता अभय दुबे ने योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाया कि उनकी सरकार पापियों को बचाने की कोशिश कर रही है।

न्यूज 18 इंडिया के डिबेट शो में बोलते हुए अभय दुबे ने कहा, ‘अखाड़ा के सर्वोच्च संत, उनको इस परिस्थिति में… और ये परिस्थियां कहां पैदा हुई, वो पावन, अलौकिक, उत्तर प्रदेश जहां भगवान प्रभु श्रीराम का जन्म हुआ। जहां काशी नगरी को स्वयं भगवान शंकर ने सृजित किया। वहां पर ऐसी अधर्मी सत्ता जो पापियों का संरक्षण कर रही है और ये पहला अवसर नहीं है।’

उनकी इस टिप्पणी पर शो के एंकर अमिश देवगन ने पूछा, ‘आपने बड़ा शब्द बोला। अधर्मी सत्ता किसकी? योगी आदित्यनाथ की? जो खुद एक संत हैं। एक अधर्मी सत्ता है जो पापियों का संरक्षण कर रही है। किस पापी का संरक्षण किया गया आप बताइए? ये हत्या है या आत्महत्या ये जानकारी नहीं है लेकिन आप कह रहे हैं कि पापियों का संरक्षण कर रही है सत्ता। किस आधार पर कहा आपने?’

जवाब के अभय दुबे ने कहा, ‘आप ये मान रहे हैं कि ये हत्या है या आत्महत्या, निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता लेकिन उत्तर प्रदेश की पुलिस 306 में कायमी कर देती है और किस बुनियाद पर कायम करती है… सुसाइड नोट के आधार पर।’

कोंग्रेस नेता ने सवाल उठाया कि महंत नरेंद्र गिरी हस्ताक्षर के अलावा और कुछ लिखना नहीं जानते थे तब उन्होंने सुसाइड नोट कैसे लिख दिया और उत्तर प्रदेश पुलिस ने उसी को आधार मानकर मौत की जांच आत्महत्या के एंगल से करनी शुरू कर दी।

महंत नरेंद्र गिरी का सुसाइड नोट भी सामने आया है जिसमें उन्होंने अपने शिष्य आंनद गिरी पर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है। उन्होंने लिखा है कि आनंद गिरि किसी लड़की के साथ गलत काम करते हुए उनकी मोर्फ की हुई तस्वीर वायरल करने वाला है इसलिए वो आत्महत्या करने जा रहे हैं। उन्होंने लिखा कि वो अपने पद की गरिमा को धूमिल नहीं करना चाहते।