पावडर की आड़ में घुसाया जा रहा था भारत मे बड़ी मात्रा में हेरोईन

तालिबान और ISI का भी है हेरोइन कनेक्शन, सूत्रों के मुताबिक जून में DRI और कस्टम की चूक की वजह से एक बड़ा ड्रग्स कन्साइनमेंट पहले हाथ से निकल चुका है।

पावडर की आड़ में घुसाया जा रहा था भारत मे बड़ी मात्रा में हेरोईन

कच्छ के मुंद्रा पोर्ट पर डीआरआई की टीम ने एक अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है, केंद्रीय एजेंसी ने गुजरात की मुंद्रा बंदरगाह से 11000 से करोड़ रुपये से भी ज्यादा के ड्रग्स बरामद किये हैं ,एजेंसी के अधिकारियों ने वहां से 3000 किलोग्राम हेरोइन ज़ब्त की है, ड्रग्स के इस खेप का कनेक्शन आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा से बताया जा रहा है,

डीआरआई के अनुसार, हेरोइन ले जाने वाले कंटेनर्स को आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा स्थित एक फर्म द्वारा आयात किया गया था और फर्म ने खेप को 'टेल्कम पाउडर' घोषित किया था,वहीं निर्यात करने वाली फर्म की पहचान अफगानिस्तान के कंधार स्थित हसन हुसैन लिमिटेड के रूप में की गई है,जब ये कन्साइनमेंट अफ़ग़ानिस्तान से होकर ईरान और ईरान से गुजरात के कच्छ के मुंद्रा पोर्ट पहुंचा तब DRI और कस्टम ने ये कन्साइनमेंट रोक कर जांच की और टेलकम पावडर की आड़ में करोड़ो का (heroin) बरामद हुआ

कंटेनरों को आंध्र प्रदेश के विजयवाडा स्थित आशी ट्रेडिंग फर्म द्वारा अफगानिस्तान से ईरान और ईरान से मुंद्रा पोर्ट पर आयात किया गया था,आयात करने वाले Aashi Trading फर्म के सुधाकर और वैशाली नामक दोनो पति-पत्नी इस पूरे मामले के लिए चैन्नई से गिरफ्तार किया गया,भुज की कोर्ट में दोनों अपराधी पति पत्नी को पेश किया गया कोर्ट ने 10 दिन तक के रिमांड DRI को दिए है

लेकिन इस पूरे मामले में शामिल और भी कई बड़े लोगो की गिरफ्तारी हो सकती है,कल रात भी DRI ने दिल्ली से 2 अफगान नागरिक समेत एक भारतीय नागरिक को इस मामले में हिरासत में लिया है,अबतक इस पूरे मामले में 5 लोगो की गिरफ्तारी हो चुकी है