पुलिया निर्माण के नाम पर हुआ भ्रष्टाचार, जिम्मेदार कौन सिर्फ दिखावे के नाम पर पुलिया बनाया गया

पुलिया निर्माण के नाम पर  हुआ  भ्रष्टाचार, जिम्मेदार कौन सिर्फ दिखावे के नाम पर पुलिया बनाया गया
पुलिया निर्माण के नाम पर  हुआ  भ्रष्टाचार, जिम्मेदार कौन सिर्फ दिखावे के नाम पर पुलिया बनाया गया

छत्तीसगढ़:- छत्तीसगढ़ में सरकार भले ही बदल गयी हो लेकिन कर्मचरियों और ठेकेदारों का रवैया वैसे ही है जैसे पहेले था | किसी भी निर्माण में गुणवत्ता और पार्दिशिता के बाद जो कागजो और भाषणों में कही जाती है पर ओ धरातल पर नजर नहीं आती, और नजर आती है तो सिर्फ गड़बड़ी हम बात कर रहे है सारंगढ़ विकाश खण्ड के ग्राम पंचायत पिण्डरी बा.पा. पंचायत की जहाँ देखावे नाम मात्र  के लिए  ही पुलिया निर्माण कर राशी को निगल लिया गया है, कोटाही तलाब जाने वाले रस्ते में पुलिया बनाया गया है ,जो महज दो साल भी नहीं हुआ है | और अभी से टूट रहा है 

,  गौरतलब की बात है की पूर्वजो दुवारा बनाया गया मिटटी का मेड जैसे के तैसा है और इतने बजट से बनाया गया पुल और गली कान्क्रेटी को महज दो साल भी नहीं हुआ है और अभी से पुल में दरारे और रोड उखड़ रही है , इतने सरिया , रेत, गिट्टी, सीमेंट के लागत से बनी हुआ पुलिया अभी से टूट रही है , शासन प्रशासन  पंचायत के विकास के लिए इतना पैसे खर्च कर रही है , जिसका सही तरीके से उपयोग नहीं हो रहा है , अर्थात  उसका कोई भी मतलब नहीं है ये सब के सब भरष्टाचार के भेंट चढ़ रही है |.

ग्रामीणों दुवारा बताया गया की इस पुलिया को मुस्किल से 2 साल नहीं हुआ है और ये अभी से टूट रही है , न तो इस रस्ते में भारी वाहन चल रहा है , जिससे ये पुलिया अधिक वजन से टूट जाये |  अभी से ही पुलिया का सरिया दिखाई देने लगा है , 

2 से 3 लाख में बनी पुलिया 2 से 3 साल भी नही हुआ है और टूट रही है , यदि साशन के पैसे का सही में उपयोग हुआ होता , तो  तो आज पुलिया और गली कन्क्रेटी न तो टूटती और नहीं उखड्ती

इससे साफ होता है की सचिव  और सरपंच  के दुवारा पुलिया और गली कान्क्रेटी  को भरष्टाचार के भेंट चढ़ाई  गयी है |

निरीक्षण अधिकारियो और इन्जिरियारो के दुवारा मूल्याङ्कन कर पुलिया और गली  कान्क्रेटी बनाई गयी है 

इसे अधिकारियो की लापरवाही भी साफ झलक रही है , अधिकारियो और सरपंच सचिव दुवारा मिली भगत करके शासन को गुमराह करके के शासन की राशी का गबन किया गया है |